हर पल ख़ुशी का तराना चाहिए.......

अब पल पल ख़ुशी का नया तराना चाहिए
जिन्दगी के सफ़र को एक तेरा सहारा चाहिए

सोचती हूँ हर बात खवाबो में
लेकिन हकीकत में आजमाना चाहिए

बस तेरा ही साथ हर पल चाहिए
इतने काँटों में एक गुलाब चाहिए

सुख में हर कोई साथ देता है
मुझे दुख में भी तेरा साथ चाहिए

मेरे सवालो का जवाब चाहिए
अब हर पल ख़ुशी का तराना चाहिए

http://3.bp.blogspot.com/_mWumljFJslc/SF325eMqbTI/AAAAAAAACnQ/eTluF0dylwA/s320/Prashant%27s+blog.jpg

:- यशोदा कुमावत

8 टिप्पणियाँ:

Bhanu choudhary ने कहा…

बस तेरा ही साथ हर पल चाहियें
इतने काँटों में एक गुलाब चाहियें

सुख में हर कोई साथ देता है
मुझे दुख में भी तेरा साथ चाहियें

बहुत अच्छी मार्मिक नारी मन को दर्शाने वाली प्रस्तुति

वन्दना ने कहा…

sundar bhaav.

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत सुन्दर भावों को प्रस्तुत किया है.

माणिक ने कहा…

dil se likhaa hai,thodaa saa hindi ke lihaaz se lay milaa denge to behad achha rahegaa.
अपनी माटी
माणिकनामा

Gayatri Upadhyay ने कहा…

bahut acha likti ho aap. its too deep words.

Babli ने कहा…

मेरे ब्लॉग पर आने के लिए और टिपण्णी देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया!
बहुत सुन्दर भाव और अभिव्यक्ति के साथ आपने शानदार रचना लिखा है जो काबिले तारीफ़ है! बधाई!

Parender Sethi ने कहा…

very nice

दिलीप ने कहा…

acha prayas...shubhkamnayein...